Home Entertainment New Shayari Doorie Shayari | Latest Dooriyan Shayari In Hindi

Doorie Shayari | Latest Dooriyan Shayari In Hindi

0

Mujhse Dooriyaan Banakar To Dekho,
Phir Pata Chalega Kitna Nazdeek Hoon Main.

मुझसे दूरियाँ बनाकर तो देखो,
फिर पता चलेगा कितना नज़दीक हूँ मैं।

Dooriyan Badhi To Dil Se Bhi Door Jane Lage,
Ab To Vo Haal-E-Dil Batane Mein Bhi Katrane Lage .

दूरियाँ बढ़ी तो दिल से भी दूर जाने लगे,
अब तो वो हाल-ए-दिल बताने में भी कतराने लगे ।

Itni Dooriyaan Na Badhao Thoda Sa Yaad Hi Kar Liya Karo,
Kahin Aisa Na Ho Ki Tum-Bin Jeene Ki Aadat Si Ho Jaye.

इतनी दूरियाँ ना बढ़ाओ थोड़ा सा याद ही कर लिया करो,
कहीं ऐसा ना हो कि तुम-बिन जीने की आदत सी हो जाए।

Kaun Kahta Hai Ki Dooriyan, Milon Mein Napi Jati Hain,
Kabhi Khud Se Milne Mein Bhi Umr Guzar Jati Hai.

कौन कहता है कि दूरियाँ, मिलों में नापी जाती हैं,
कभी खुद से मिलने में भी उम्र गुज़र जाती है।

Kaise Banaoon Teri Yaadon Se Dooriyaan
Do Kadam Jakar Sau Kadam Laut Aati Hoon.

कैसे बनाऊँ तेरी यादों से दूरियाँ
दो कदम जाकर सौ कदम लौट आती हूँ।

Kabhi Kabhi Mitate Nahi, Chand Lamhon Ke Fansle,
Ehsaas Agar Jinda Ho, Mit Jaati Hain Dooriyaan.

कभी कभी मिटते नही, चंद लम्हों के फांसले,
एहसास अगर जिन्दा हो, मिट जाती हैं दूरियाँ।

Dooriyan Jab Bhi Badhi To Galatfhamiyan Bhi Badh Gayi,
Phir Tumne Vo Bhi Suna Jo Maine Kaha Hi Nahi.

दूरियाँ जब भी बढ़ी तो गलतफहमियां भी बढ़ गयी,
फिर तुमने वो भी सुना जो मैंने कहा ही नही।

Tu Mujhse Dooriyan Badhane Ka Shauk Poora Kar,
Meri Bhi Jid Hai Tujhe Har Dua Mein Magunga.

तू मुझसे दूरियाँ बढ़ाने का शौक पूरा कर,
मेरी भी जिद है तुझे हर दुआ में मागुँगा।

Mana Ki Dooriya Kuch Badh Se Gayi Hain
Lekin Tere Hisse Ka Waqt Aaj Bhi Tanha Gujarta Hai.

मन की दूरियां कुछ बढ़ सी गयी हैं
लेकिन तेरे हिस्से का वक़्त आज भी तनहा गुजरता है।

Tera Mera Dil Ka Rishta Bhi Ajeeb Hai,
Meelon Ki Dooriyan Hai Aur Dhadkan Kareeb Hai.

तेरा मेरा दिल का रिश्ता भी अजीब है,
मीलों की दूरियां है और धड़कन करीब है।

Khud Ke Liye Ik Saja Mukarr Kar Li Maine,
Teri Khushiyon Ki Khatir Tujhse Dooriyan Chun Li Maine.

खुद के लिए इक सजा मुकर्र कर ली मैंने,
तेरी खुशियों की खातिर तुझसे दूरियां चुन ली मैंने।

Mohabbat Mein Fhasle Bhi Jaruri Hai Sahab,
Jitni Doori Utna Hi Gahra Rang Chadhta Hai.

मोहब्बत में फासले भी जरूरी है साहब,
जितनी दूरी उतना ही गहरा रंग चढ़ता है।

Ek Sil-sile Kee Ummeed Thee Jinse,
Vahee Faasale Banaate Gaye.
Ham To Paas Aane Ki Koshish Mein The,
Na Jane Kyu Vo Hamse Dooriyan Badhate Gaye.

एक सिल-सिले की उम्मीद थी जिनसे,
वही फ़ासले बनाते गये।

Ye Kaisa Ajab Sa Pyar Hai,
Jismein Na Milne Ki Aas Na Koi Takarar Hai,
Dooriyaan Itani Ki Sahi Na Jayen,
Phir Bhi Nibhane Ki Chaah Barqaraar Hai.

ये कैसा अजब सा प्यार है,
जिसमें ना मिलने की आस ना कोई तकरार है,
दूरियाँ इतनी की सही न जाएँ,
फिर भी निभाने की चाह बरक़रार है।

Na Kabhi Ye Jaan Sake Dooriyaan Kyu Thi,
Jubaan Par The Lafj Phir Wo Majbooriyan Kyu Thi,
Dilon Ki Baten Agar Hakikat Hoti Hain,
Hamare Darmiyan Wo Khamoshiyan Na Hoti,
Bune The Hamne Bhi Kuchh Reshmi Dhagon Se Khvaab,
Magar Hamare Hathon Mein Wo Kaali Doriyan Kyu Thi.

न कभी ये जान सके दूरियां क्यों थी,
जुबान पर थे लफ़्ज फिर वो मजबूरियां क्यों थी,
दिलों की बातें अगर हकीकत होती हैं,
हमारे दरमियाँ वो खामोशियाँ न होती,
बुने थे हमने भी कुछ रेशमी धागों से ख्वाब,
मगर हमारे हाथों में वो काली डोरियां क्यों थी।
हम तो पास आने की कोशिश में थे,
ना जाने क्यूँ वो हमसे दूरियाँ बढ़ाते गये।

Sirf Nazdeekiyon Se Mohabbat Hua Nahi Karti,
Fasle Jo Dilon Mein Ho To Fir Chahat Hua Nahi Karti,
Agar Naraz Ho Khafa Ho To Shikayat Karo Humse,
Khamosh Rahne Se Dilon Ki Dooriyan Mita Nahi Karti.

सिर्फ नज़दीकियों से मोहब्बत हुआ नहीं करती,
फैसले जो दिलों में हो तो फिर चहत हुआ नहीं करती,
अगर नाराज़ हो खफा हो तो शिकायत करो हमसे,
खामोश रहने से दिलों की दूरियां मिटा नहीं करती।

Bahut Door Magar Bahut Paas Rahte Ho,
Najaron Se Door Magar Dil Ke Paas Rahte Ho,
Mujhe Bas Itna Bata Do Ai Sanam,
Kya Tum Bhi Mere Bina Udaas Rahate Ho.

बहुत दूर मगर बहुत पास रहते हो,
नजरों से दूर मगर दिल के पास रहते हो,
मुझे बस इतना बता दो ऐ सनम,
क्या तुम भी मेरे बिना उदास रहते हो।

Tum Door Ho To Kya Hua,
Dil Mein Hai Yaadein Tumhari,
Ye Dooriya Khud Mit Jayengi,
Jab Ayegi Tumhe Yaad Hamari.

तुम दूर हो तो क्या हुआ,
दिल में है यादें तुम्हारी,
ये दूरिया खुद मिट जाएँगी,
जब आएगी तुम्हे याद हमारी।

Is Kadar Dil Ko Dukhana Achha Nahi Hota,
Har Kisi Se Yun Dil Ko Lagana Achha Nahi Hota,
Kuchh Riste Hote Hain Aise Jinme Behtar Hain Dooriyan,
Itna Bhi Kisi Ke Kareeb Jana Achha Nahi Hota.

इस कदर दिल को दुखाना अच्छा नहीं होता,
हर किसी से यूँ दिल को लगाना अच्छा नहीं होता,
कुछ रिश्ते होते हैं ऐसे जिनमे बेहतर है दूरियां,
इतना भी किसी के करीब जाना अच्छा नहीं होता।

Dooriyon Ki Na Parwah Kiya Karo,
Jab Dil Chahe Yaad Kiya Karo,
Dushman Nahi Hain Dost Hain Hum Aapke,
Mera Sms Na Aaye To Khud Bhej Diya Karo.

दूरियों की ना परवाह किया करो,
जब दिल चाहे याद किया करो,
दुश्मन नहीं हैं दोस्त हैं हम आपके,
मेरा Sms न आये तो खुद भेज दिया करो।

Ki Thi Jo Toot Kar Mohabbat
Aaj Usamen Itni Dooriyan Kyu Hain,
Tum Tum Hi Ho, Main Main Hi Hoon,
To Phir Itni Galatafhamiyan Kyu Hain.

की थी जो टूट कर मोहब्बत
आज उसमें इतनी दूरियां क्यों हैं,
तुम ‘तुम’ ही हो, मैं ‘मैं’ ही हूँ,
तो फिर इतनी गलतफहमियां क्यों हैं।

Bin Bataye Usne Na Jane Kyu Ye Doori Kar Di,
Bichhad Ke Usne Mohabbat Hi Adhuri Kar Di,
Mere Muqaddar Mein Ghum Aaye To Kya Hua,
Khuda Ne Uski Khwaish To Poori Kar Di.

बिन बताये उसने न जाने क्यों ये दूरी कर दी,
बिछड़ के उसने मोहब्बत ही अधूरी कर दी,
मेरे मुकद्दर में घूम आये तो क्या हुआ,
खुदा ने उसकी ख्वाइश तो पूरी कर दी।

Galtiyon Se Juda Tu Bhi Nahin Aur Main Bhi Nahin,
Donon Insan Hain Khuda Tu Bhi Nahin, Main Bhi Nahin,
Galatfahamiyon Ne Kar Di Dooriyaan Paida,
Varna Fitarat Ka Bura Tu Bhi Nahin Main Bhi Nahin.

गलतियों से जुदा तू भी नहीं और मैं भी नहीं,
दोनों इंसान हैं ख़ुदा तू भी नहीं, मैं भी नहीं,
गलतफहमियों ने कर दी दूरियां पैदा,
वरना फितरत का बुरा तू भी नहीं मैं भी नहीं।

Meri Guftagu Ke Har Andaz Ko Samajhta Hai,
Ek Vahi Hai Jo Mujhpe Aitbaar Rakhta Hai,
Door Ho Ke Bhi Mujh Se Hai Vo Itna Kareeb,
Aisa Lagta Hai Mere Aas-Paas Rahta Hai.

मेरी गुफ्तगू के हर अंदाज़ को समझता है,
एक वही है जो मुझपे ऐतबार रखता है,
दूर हो के भी मुझ से है वो इतना करीब,
ऐसा लगता है मेरे आस-पास रहता है।

Tujhse Doori Ka Ehsaas Satane Laga,
Tere Sath Gujra Har Pal Yaad Aane Laga,
Jab Bhi Koshish Ki Tujhe Bhulne Ki,
Tu Aur Jyada Dil Ke Kareeb Aane Laga.

तुझसे दूरी का एहसास सताने लगा,
तेरे साथ गुज़रा हर पल याद आने लगा,
जब भी कोशिश की तुझे भूलने की,
तू और ज्यादा दिल के करीब आने लगा।

Kadmo Ki Doori Se Dilon Ke Fansle Nahi Badhte,
Door Hone Se Dil Ke Ehsaas Nahi Marte,
Kuch Kadmon Ka Fasla Hi Sahi Hamare Beech,
Lekin Aisa Koi Pal Nahi Jab Hum Aapko Yaad Nahi Karte

कदमों की दूरी से दिलों के फैसले नहीं बढ़ते,
दूर होने से दिल के एहसास नहीं मरते,
कुछ कदमों का फासला ही सही हमारे बीच,
लेकिन ऐसा कोई पल नहीं जब हम आपको याद नहीं करते।

Dooriyon Ki Parwah Na Kijie,
Dil Jab Bhi Pukare Hume Bula Lijiye,
Hum Bahut Door Nahin Aapse,
Bas Apni Aankhon Se Palko Mila Lijiye.

दूरियों की परवाह न कीजिए,
दिल जब भी पुकारे हमें बुला लीजिए,
हम बहुत दूर नहीं आपसे,
बस अपनी आँखों को पलकों से मिला लीजिए।

Unki Galiyon Ki Hawa Har Dard Ki Dava Ban Gayi,
Doori Unse Meri Chaahat Ki Saza Ban Gayi,
Kaise Bhooloon Unhein Ek Pal Ke Liye,
Unki Yaad To Jeene Ki Vajah Ban Gayi.

उनकी गलियों की हवा हर दर्द की दवा बन गयी,
दूरी उनसे मेरी चाहत की सज़ा बन गयी,
कैसे भूलूँ उन्हें एक पल के लिए,
उनकी याद तोह जीने की वजह बन गयी।

Tere Liye Khud Ko Majboor Kar Liya,
Zakhmo Ko Apne Humne Nasoor Kar Liya,
Mere Dil Mein Kya Tha Ye Jaane Bina,
Tu Ne Khud Ko Humse Kitna Door Kar Liya.

तेरे लिए खुद को मजबूर कर लिया,
जख्मो को अपने हमने नासूर कर लिया,
मेरे दिल में क्या था ये जाने बिना,
तूने खुद को हमसे कितना दूर कर लिया।

Na Jane Kab Is Dil Ki Mannat Puri Hogi,
Kab Mitege Fasle Aur Door Ye Doori Hogi,
Door Rehne Ki Kaunsi Aisi Majburi Hogi,
Bina Uske Zindagi Yakenan Adhuri Hogi.

न जाने कब इस दिल की मन्नत पूरी होगी,
कब मिटेगें फासले और दूर ये दूरी होगी,
दूर रहने की कौन सी ऐसी मज़बूरी होगी,
बिना उसके ज़िन्दगी यकीनन अधूरी होगी।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Exit mobile version